Social Items

 



The date for the National Eligibility cum Entrance Test (NEET) 2021 for the course is expected to be announced within a week or two.

According to the report, the Education Ministry has held a meeting with the Vice Chancellors of various universities to discuss the CUCET, JEE 2021 and NEET 2021. Let us tell you that every year around 15 lakh candidates appear for the NEET exam.

This year, the NEET exam for undergraduate admission is scheduled to be held on August 1. However, the application process for the exam has not started yet. On the other hand, the students have urged the government to give an early clarification on NEET 2021. The Education Ministry clarified that the COVID-19 situation will be reviewed before the final announcement on the dates of NEET 2021. 

NEET 2021: 5 important things you need to know from exam date to syllabus

 

हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड द्वारा 7 मानदंडों के अंतर्गत दसवीं के परीक्षार्थियों का परीक्षा परिणाम तैयार किया जाएगा। इन 7 मानदंडों के अंतर्गत नवीं कक्षा, प्रैक्टिकल, इंटरनल असेस्मैंट, फस्ट व सैकेंड टर्म इग्जाम, प्री-बोर्ड व हिंदी का पेपर जो बोर्ड द्वारा ले लिया गया है, का मूल्यांकन करवाकर, का आंकलन कर विद्यार्थियों का परीक्षा परिणाम घोषित किया जाएगा। 

हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड अध्यक्ष डाॅ. सुरेश कुमार सोनी ने 7 मानदंडों के आधार पर दसवीं के परीक्षार्थियों का रिजल्ट तैयार करने के लिए बोर्ड के अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में अक्षय सूद, सचिव हि.प्र. स्कूल शिक्षा बोर्ड उपस्थित थे। सोनी ने कहा कि बोर्ड द्वारा प्रैक्टिकल परीक्षाओं का संचालन पूर्व में करवाया गया था तथा विद्यालयों से प्रैक्टिकल एवं आंतरिक मूल्यांकन के अंक बोर्ड को प्राप्त हो चुके हैं। 

हिंदी पेपर की उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन करवाया जाएगा। विद्यार्थियों को प्रमोट करने के लिए मानदंड तैयार करते समय सत्र एवं व्यापक मूल्यांकन को ध्यान में रखा गया है। उन्होंने कहा कि संबंधित विद्यालयों के पिं्रसीपलों/मुख्याध्यापकों की अध्यक्षता में परिणाम सारणीकरण समिति का गठन किया जाएगा, जो निर्धारित 7 मानदंडों के अनुसार परीक्षा परिणाम तैयार करेगी तथा बोर्ड द्वारा उपलब्ध करवाए गए ऑनलाइन लिंक के माध्यम से अंक अपलोड करेगी। बोर्ड ऑनलाइन कोडिंग माड्यूल तैयार करेगा। उस मॉडयूल में सभी स्कूलों के विद्यार्थियों का डाटा अपलोड किया जाएगा। जो परीक्षार्थी इस असैस्मेंट से संतुष्ट नहीं होंगे, कोविड के हालात ठीक होन के बाद उन्हें पेपर देने का मौका दिया जाएगा।



HPBOARD- बोर्ड द्वारा 7 मानदंडों के अंतर्गत दसवीं के परीक्षार्थियों का परीक्षा परिणाम तैयार किया जाएगा

 



What do you mean by Network Operating System? Describe its Features.


Answer:- 

Network Operating System is an operating system that includes special functions for connecting computers and devices into a local-area network (LAN) or  Inter-network. Short form of Network Operating system is NOS. Some popular network  operating systems are Novell Netware, Windows NT/2000, Linux, Sun Solaris, UNIX, and IBM OS/2. The network operating system which was first developed is Novell Netware. It was developed in 1983. An operating system that provides the connectivity among a number of autonomous computers is called a network operating system.

Some of the features of Network Operating System are:


1. It allows multiple computers to connect so that they can share data, files and hardware devices. 

2. It Provide basic operating system features such as support for processors, protocols, automatic hardware detection etc. 

3. It Provide security features such as authentication, logon restrictions and access control. 

4. It Provides file, print, web services and back-up services. 

5. User management and support for logon and logoff, remote access; system management, administration and auditing tools with graphical interfaces. 

6. It has internetworking features. Example: Routing.





















What do you mean by Network Operating System? Describe its Features.

 


What do you mean by Computer Network? What are its advantages?

Answer:- 

A computer network consists of two or more computers that are linked in order to share resources such as printers and CD-ROMs, exchange files, or allow electronic communications. The computers on a computer network may be linked through cables, telephone lines, radio waves, satellites, or infrared light beams.



Advantages:

1. Sharing devices such as printers saves money.

2. Site (software) licenses are likely to be cheaper than buying several stand alone licenses.

3. Files can easily be shared between users.

4. Network users can communicate by email and instant messenger.

5. Security is good - users cannot see other users' files unlike on stand-alone machines.

6. Data is easy to backup as all the data is stored on the file server.

Disadvantages:- 

1. Purchasing the network cabling and file servers can be expensive.

2. Managing a large network is complicated, requires training and a network manager usually needs to be employed.  

3. If the file server breaks down the files on the file server become inaccessible.

4. Viruses can spread to other computers throughout a computer network.

5. There is a danger of hacking, particularly with wide area networks. Security procedures are needed to prevent such abuse, e.g. a firewall.



What do you mean by Computer Network? What are its advantages and disadvantages?

हिमाचल प्रदेश बोर्ड दसवीं कक्षा के हिंदी के पेपर का मूल्यांकन करेंगे परीक्षा केंद्र के प्रिंसिपल



जानकारी के मुताबिक दसवीं कक्षा का रिजल्ट बनाने के लिए हिमाचल प्रदेश बोर्ड ने प्रक्रिया शुरू कर दी है जिसमें दसवीं कक्षा में एकमात्र हुए हिंदी का पेपर का मूल्यांकन परीक्षा केंद्रों के प्रिंसिपल करवाएंगे हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड के पेपर का मूल्यांकन करने की त्यारी रहा है



हालांकि पहले शिक्षा बोर्ड ने कहा था कि वह मई के अंत तक दसवीं के रिजल्ट को निकाल देंगे ! कुछ तकनीकी कारण के कारण वह संभव नहीं हो पाया,लेकिन बारहवीं कक्षा का भी अंग्रेजी का पेपर हो चुका है जिसका मूल्य कान सीबीएसई के तर्ज पर आधारित होगा क्योंकि पहले इसमें यह देखा जाएगा कि सीबीएसई  किस क्राइटेरिया से मार्क्स देगा उसी तरीके से हिमाचल प्रदेश बोर्ड भी देगा बोर्ड अभी सीबीएसई के क्राइटेरिया का इंतजार कर रहा है स्कूल शिक्षा बोर्ड की ओर से 246 कलेक्शन केंद्र बनाए गए थे 



जानकारी के मुताबिक दसवीं के परीक्षा परिणाम तैयार करने के लिए प्री बोर्ड फर्स्ट टर्म सेकंड टर्म इ,टरनल एसेसमेंट एकमात्र हुए पेपर के अंक सहित अन्य मांगों को शामिल किया जाएगा जिसके चलते स्कूल शिक्षा बोर्ड दसवीं के हिंदी के पेपर का मिलेगा करवाएगा उल्लेखनीय है कि गत वर्ष के कारण अध्यापकों द्वारा अपने घरों में किया गया था



अभी पिछले हफ्ते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने सीबीएसई की 12वीं की परीक्षा को भी रद्द कर दिया था जिसमें उन्होंने कहा था कि बच्चों की स्वास्थ्य हमारे लिए पहली नीति है और इस काल में परीक्षा करवाना बहुत मुश्किल है स्कूल शिक्षा बोर्ड की मानें तो रिजल्ट मंगवाने के लिए प्रत्येक स्कूल में   कमेटी बनेगी इन कमेटियों में जल टेबुलेशन कमेटी, एडिटर कमेटी रिजल्ट एबलेशन वेरिफिकेशन कमेटी सहित अन्य शामिल होंगे


इसमें कई परीक्षार्थियों को कन्फ्यूजन बहुत हो चुका है इसमें वह परीक्षार्थी आते हैं जिन्होंने कंपार्टमेंट वह प्राइवेट पेपर भरे हुए हैं यदि रेगुलर स्टूडेंट को भी पास किया जाता है तो उन्हें भी पास कर दिया जाएगा जिन्होंने पेपरों को भरा होगा

 हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष सुरेश कुमार सोनी ने कहा है कि दसवीं कक्षा के हिंदी के पेपर चेकिंग करवाने की जिम्मेदारी परीक्षा केंद्रों के प्रिंसिपल को दी जाएगी स्कूलों में नई कमेटी का गठन भी किया जाएगा






HP Board:- दसवीं कक्षा के हिंदी के पेपर का मूल्यांकन करेंगे परीक्षा केंद्र के प्रिंसिपल


Date- 6 June 2021

यह न्यूज़ 2 भाषा में हैं हिंदी और इंग्लिश इंग्लिश के लिए ब्लॉग के नीचे जाए ! 

UP Board 2021: कब जारी होंगे 10वीं और 12वीं के नतीजे, जानें लेटेस्ट अपडेट



कई मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया है कि इस महीने के अंत तक यूपी बोर्ड 10वीं और 12वीं के नतीजे जारी कर सकता है 

 त्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (UPMSP) ने हाल ही में 10वीं के बाद 12वीं की परीक्षाएं रद्द कर दी हैं. छात्रों की ओर से तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं देखने को मिल रही हैं. लाखों छात्र सरकार के इस फैसले को खूब पसंद कर रहे हैं, लेकिन टॉप के छात्र हमेशा इस फैसले से खुश नहीं होते हैं. कुछ परीक्षार्थियों का मानना ​​है कि सरकार द्वारा छात्रों की पदोन्नति से उन छात्रों को काफी नुकसान होगा, जिन्होंने इसके लिए साल भर मेहनत से पढ़ाई की थी।



 बता दें कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा और कई अधिकारियों के बीच हुई उच्च स्तरीय बैठक में 12वीं की परीक्षा रद्द करने और सभी छात्रों को प्रमोट करने का फैसला लिया गया और अब छात्रों और उनके माता-पिता को प्रमोट कर दिया गया है.

 


परिणाम की प्रतीक्षा में। कब तक जारी हो सकता है रिजल्ट प्रमोटेड हाई स्कूल और इंटर के छात्र अब अपने रिजल्ट का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं. इसके लिए लगातार चर्चा का दौर जारी है। कई मीडिया रिपोर्ट्स में यह कयास लगाए जा रहे हैं कि यूपी बोर्ड जून के अंत तक रिजल्ट जारी कर सकता है.


For English- 

UP Board 2021: When will the 10th and 12th results be released, know the latest updates It has been told in many media reports that by the end of this month, the UP Board can release the results of 10th and 12th. 

Uttar Pradesh Secondary Education Council (UPMSP) recently canceled the 12th examinations after 10th. Various types of reactions are being seen from the students. Lakhs of students are liking the government's decision very much, but the top students are not always happy with this decision.

Some examinees believe that the promotion of students by the government will cause a lot of damage to the students who had studied hard for it throughout the year. Let us inform that in a high-level meeting held between Uttar Pradesh Chief Minister Yogi Adityanath, Deputy Chief Minister Dinesh Sharma and many officials, a decision was taken to cancel the 12th exam and promote all the students and now the students And their parents are waiting for the result. 

By when can be releasedResult Promoted High School and Inter students are now eagerly waiting for their results. For this, the round of continuous discussions is going on. It is being speculated in many media reports that by the end of June, the UP Board may release the result.


UP Board 2021: कब जारी होंगे 10वीं और 12वीं के नतीजे, जानें लेटेस्ट अपडेट

dth help